Economy

भारत और रूस के संयुक्त उद्यम के द्वारा कलाश्निकोव AK-203 का उत्पादन शुरू किया गया

कलाश्निकोव AK-203 असॉल्ट राइफलों के निर्माण हेतु भारत-रूस का संयुक्त उद्यम दोनों देशों के मध्य पक्की साझेदारी का एक प्रमाण है। एक संयुक्त उद्यम के माध्यम से भारत के अंदर इन राइफलों के निर्माण का कदम न केवल भारतीय सशस्त्र बलों को ज्यादा मारक क्षमता उपलब्ध करवाना है बल्कि दोनों देशों के मध्य सैन्य-तकनीकी सहयोग को पक्का करने के अंदर एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में भी वर्क करता है।


भारत और रूस के संयुक्त उद्यम के द्वारा कलाश्निकोव AK-203 का उत्पादन शुरू किया गया
भारत और रूस के संयुक्त उद्यम के द्वारा कलाश्निकोव AK-203 का उत्पादन शुरू किया गया

उत्पादन तथा वितरण

कलाश्निकोव AK-203 का उत्पादन अब रूस के रोसोबोरोनेक्सपोर्ट तथा भारत के सरकारी आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) के मध्य कोरवा, अमेठी, उत्तर प्रदेश के अंदर “कलाशनिकोव इंडिया” ब्रांड नाम के तहत एक संयुक्त उद्यम के माध्यम से भारत के अंदर किया जा रहा है। इस सुविधा के अंदर हर साल 7,50,000 राइफलों का उत्पादन करने की क्षमता है

मेड इन इंडिया पहल

यह संयुक्त उद्यम, इंडो-रशियन राइफल्स प्राइवेट लिमिटेड, भारत सरकार की ‘मेड इन इंडिया’ पहल के अनुरूप ही भारत के अंदर AK-203 राइफल्स के उत्पादन का 100% स्थानीयकरण सुनिश्चित करने की योजना तैयार कर रहा है। यह सुविधा न ऑनली भारत के अंदर जबकि दूसरे कानून प्रवर्तन एजेंसियों के कर्मियों को AK-203 असॉल्ट राइफलों से पूर्ण रूप से लैस करने में सक्षम होगी, परंतु इसके उत्पादों को किसी तीसरे देशों को निर्यात करने की भी योजना है, जिससे वैश्विक स्तर पर ‘मेक इन इंडिया’ पहल को महत्त्व मिल पाएगा।

कलाश्निकोव AK-203 असॉल्ट राइफल क्या है?

कलाश्निकोव AK-203 एक तरह की असॉल्ट राइफल है जिसका डिजाइन तथा निर्माण रूसी रोस्टेक स्टेट कॉरपोरेशन की सहायक कंपनी कलाश्निकोव कंसर्न की ओर से किया गया है। AK-203 राइफल्स की AK-200 श्रेणी का भाग है, जो पारंपरिक AK-47 डिज़ाइन पर बेसिस हैं, परंतु इसके अंदर आधुनिक घटक मौजूद हैं।

यह भी पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button